Home सिने-जगत

अक्षय कुमार ने कहा- भाई-बहन के रिश्ते पर जब कहानी सुनी, बहुत एक्साइटिंग लगी तो तुरंत हां कह दिया था

56
0

अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर स्टारर फिल्म ‘रक्षाबंधन’ 11 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। आनंद एल राय के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में अक्षय और भूमि के अलावा एक, दो नहीं, बल्कि चार न्यू कमर भी हैं। अक्षय कुमार ने खास बातचीत में फिल्म में न्यू कमर के साथ काम करने के अनुभव और 15 अगस्त आदि के बारे में बात की है।

फिल्म ‘रक्षाबंधन’ में आपका लाला केदारनाथ का किरदार कैसा है?
आपने जैसा नाम का उच्चारण किया, वह अपने नाम के मुताबिक वैसा ही है। उसने गोलगप्पे की छोटी-सी दुकान खोल रखी है। गोलगप्पे और चाट बेचता है। उसकी दुकान सालों साल से चलते आ रही है, जिससे उसकी छोटी-सी इनकम है। उसे बहनों की शादी करनी है और उसमें दहेज का प्रॉब्लम आ जाता है। वह कैसे इस प्रॉब्लम को सॉल्व करता है, उस हिसाब से लाला केदारनाथ का किरदार चलता रहता है। जबकि ऐसा होना नहीं चाहिए। यह जो दहेज की प्रॉब्लम है, उसे हमें अपने देश से हमेशा-हमेशा के लिए उखाड़कर बाहर फेंकना है।

फिल्म में बहनों के रोल में एक-दो नहीं, बल्कि चारों न्यू कमर हैं, न्यू कमर्स के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
बहुत ही बढ़िया। यह मेरी जो चार बहनें हैं, बहुत उम्दा काम किया है। एक बात बताऊं कि इनमें से किसी ने कोई एक्टिंग स्कूल वगैरह नहीं किया है। यह चारों ऐसे ही आई हैं और यही हमारे डायरेक्टर आनंद एल राय की कमाल की खासियत है कि वे रॉ चीज में विश्वास रखते हैं। उन्होंने रॉ चीज लाकर उनकी रौनक दिखाई है। जिस हिसाब से चारों ने काम किया है, ऐसा लगता ही नहीं है कि यह उनकी पहली फिल्म है, या उन्होंने कभी जिंदगी में एक्टिंग की है। वे जिस तरह से घर पर रहती हैं, उसी तरह से स्क्रीन पर नजर आई हैं, क्योंकि उनको बाकायदा यही कहा गया था कि आप वैसे ही रहिए, जैसे आप अपनी रियल जिंदगी में रहते हो।

रक्षाबंधन की कहानी सुनते ही इसे करने के लिए हामी भर दी थी, आपकी नजर में वह प्लस प्वाइंट क्या रहा?
जी हां, कहानी सुनते ही उसी वक्त हां बोल दिया था, क्योंकि एक तो जब से इंडस्ट्री में हूं, तब से इस तरह भाई-बहन के रिश्ते के ऊपर फिल्म करने का कभी मौका नहीं मिला। मैं जब से इंडस्ट्री में हूं, तब से भाई-बहन रिश्ते के ऊपर कोई फिल्म भी नहीं देखी। मुझे जो सबसे पुरानी फिल्म याद आती है, वह तपस्या थी। यही बात रही कि भाई-बहन के रिश्ते पर जब कहानी सुना, तब बहुत एक्साइटिंग लगा और तुरंत हां बोल दिया।

रक्षाबंधन पर इस बार बहन के लिए कुछ खास करने वाले हैं?
वही करेंगे, जो करते आए हैं। सुबह उठकर बहन के घर जाऊंगा। उनके पैर को धोकर पांव पड़ेंगे और माथे पर तिलक लगाकर उपहार दूंगा। उनसे रक्षाबंधन बंधवाऊंगा। इस बार रक्षाबंधन पर सबसे बड़ा उपहार यही है कि यह फिल्म जो हमने बनाई है, इसे मेरी बहन प्रजेंट कर रही है। यही सबसे बड़ा उपहार है।

आपकी जो फिल्में- रामसेतु, कठपुतली, ओ माय गॉड-2 आदि आ रही हैं, उनकी क्या स्थिति है?
हां, ये सब रिलीज की स्टेज पर हैं। दिवाली में रामसेतु आएगी। बीच में हमें डिसाइड करना है कि कठपुतली कब आएगी।

डायरेक्टर आनंद एल राय और को-एक्टर भूमि पेडनेकर के साथ काम करने की बॉडिंग, अनुभव आदि कैसा रहा?
भूमि पेडनेकर के साथ ‘टॉयलेट- एक प्रेम कथा’ फिल्म में काम किया था। अब उनके साथ की दूसरी फिल्म ‘रक्षाबंधन’ है, जो 11 अगस्त को आएगी। भूमि के साथ काम करने वाली इन दोनों फिल्मों के साथ संयोग की बात यह थी कि इनकी रिलीज डेट 11 अगस्त ही होगी। पांच साल पहले 11 अगस्त, 2017 में ‘टॉयलेट- एक प्रेम कथा’ आई थी।

अब पांच साल बाद 11 अगस्त 2022 को ही ‘रक्षाबंधन’ आ रही है। उनके साथ ऐसी फिल्में करता हूं, तब बहुत मजा आता है। जहां तक सवाल आनंद राय का रहा, वे तीन-चार साल में एक फिल्म बनाते हैं। लेकिन मेरे साथ दो साल में दो फिल्में बना चुके हैं। उनके साथ का तालमेल बहुत ही बढ़िया रहा है। हमारी कोशिश रहेगी कि एक-एक फिल्म आती रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here