इक्विटी शेयर और वारंट जारी कर फंड जुटाएगी स्पाइसजेट ​​​​एनुअल जनरल मीटिंग के बाद कंपनी के प्रपोजल को शेयरहोल्डर्स की मंजूरी

12
0

स्पाइसजेट (SpiceJet) फंड जुटाने के लिए जल्द ही इक्विटी शेयर और वारंट जारी करेगी। इसके लिए डोमेस्टिक एविएशन कंपनी के प्रपोजल को आज यानी 10 जनवरी को कंपनी के शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मिल गई है। कंपनी ने इसकी जानकारी एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) के बाद एक्सचेंज फाइलिंग में दी।

एजीएम से पहले यह बताया गया था कि नकदी के संकट से जूझ रही स्पाइसजेट ने अपने विस्तार और पुनरोद्धार के लिए 2,250 करोड़ रुपए जुटाने के लिए शेयरहोल्डर्स से मंजूरी लेने की योजना बनाई है। हालांकि, एक्सचेंज फाइलिंग में कंपनी ने यह नहीं बताया कि शेयरहोल्डर्स ने कितना फंड जुटाने की मंजूरी दी है।

विमानन कंपनी के बोर्ड ने पिछले महीने ही 13 करोड़ कंवर्टिबल वारंट्स और 50 रुपये के भाव पर 32.08 करोड़ नए शेयर जारी कर 2,250 करोड़ रुपए पूंजी जुटाने के लिए मंजूरी दी थी। बजट कैरियर को वर्तमान में नकदी की तत्काल आवश्यकता है क्योंकि यह बकाया पेमेंट न करने पर कई कानूनी मामलों का सामना कर रहा है।

शेयरों में करीब 5% की तेजी
खबर के बाद स्पाइसजेट का शेयर करीब 5.21% चढ़कर 65.44 रुपए पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान इसने 63.50 रुपए का लो और 65.99 रुपए का हाई बनाया। बीते 5 दिन में शेयर करीब 8.56% चढ़ा है। स्पाइसजेट का मार्केट कैप 4,000 करोड़ रुपए है। अजय सिंह के नेतृत्व में प्रमोटरों के पास कंपनी में 56.5% हिस्सेदारी है। इसमें से 37.9% हिस्सेदारी गिरवी है।

एयरलाइन की वित्तीय स्थिति मजबूत होगी
स्पाइसजेट के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर अजय सिंह ने कहा था, ‘यह एक महत्वपूर्ण फंड रेज है और इसे स्पाइसजेट की वित्तीय स्थिति मजबूत करने, ऑपरेशनल क्षमताओं को बढ़ाने, बकाया को निपटाने के लिए किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूंजी जुटाने से एयरलाइन को भारत में विश्व स्तरीय एयरलाइन बनाने का लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी।’

5 महीने में 3.78 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया
डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन के आंकड़ों के अनुसार, मई 2023 से अक्टूबर 2023 के बीच स्पाइसजेट की उड़ानों में दो घंटे से अधिक की देरी से 189,634 यात्री प्रभावित हुए। इसी अवधि में एयरलाइन ने यात्रियों को मुआवजे के रूप में 3.78 करोड़ रुपए का भुगतान किया।

इसी अवधि में स्पाइसजेट ने गलत तरीके से 991 यात्रियों को बोर्डिंग से मना किया और यात्रियों को मुआवजे के तौर पर 18.11 लाख रुपए का पेमेंट किया। इसी तरह, फ्लाइट कैंसिलेशन से लगभग 16,131 यात्री प्रभावित हुए और एयरलाइन को 1.33 करोड़ का मुआवजा देना पड़ा।

एयरलाइन का घाटा कम होकर 449 करोड़ रुपए हुआ
स्पाइसजेट सितंबर 2023 को समाप्त तिमाही के नतीजे भी घोषित किए। इस तिमाही में एयरलाइन का घाटा कम होकर 449 करोड़ रुपए हो गया है, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह 830 करोड़ रुपए था। जून तिमाही में कंपनी को 198 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। वहीं ऑपरेशन से कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू साल-दर-साल 27% गिरकर 1,429 करोड़ रुपए हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here