‘एनिमल’ स्टाइल में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की ‘किलिंग’, जो साथ लेकर आया हत्यारों ने उसे भी नहीं बख्शा, 5 बड़े अपडेट्स

39
0

जयपुर : श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड हंगामा बढ़ता ही जा रहा है। जिस तरह से फिल्मी स्टाइल में पूरी वारदात हुई और ताबड़तोड़ गोलियां मारकर गोगामेड़ी का मर्डर हुआ उससे राजपूत समाज के लोग आक्रोशित हैं। राजधानी जयपुर, जोधपुर, कोटा, बीकानेर समेत कई जिलों में बंद बुलाया गया है। हमलावरों की गिरफ्तारी और मामले में जल्द एक्शन को लेकर बंद का आह्वान किया गया। वहीं राजस्थान की राजधानी जयपुर में मंगलवार को हुए गोगामेड़ी की हत्या में शामिल दोनों हमलावरों की पहचान हो गई है। जयपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ के मुताबिक गोगामेड़ी हत्याकांड को अंजाम देने वाले दोनों हमलावरों के नाम रोहित सिंह राठौड़ और नितिन फौजी है।

दोनों हत्यारों की हुई पहचान

गोगामेड़ी के हत्यारों में एक रोहित सिंह राठौड़ नागौर जिले के मकराना का रहने वाला है। उसके गांव का नाम जूसरी है। दूसरा हमलावर नितिन फौजी है। जयपुर पुलिस कमिश्नर ने बताया कि ये दोनों हमलावर नवीन सिंह को साथ लेकर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर पहुंचे थे। तीनों युवक सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के ऑफिस में उनके सामने ही सोफे पर बैठे थे। करीब 7-8 मिनट बात करने के बाद अचानक रोहित और नितिन ने फायरिंग कर दी। दोनों हमलावरों ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को गोली मारने के तुरंत बाद नवीन सिंह को भी गोली मार दी। बाद में गोगामेड़ी के परिचित अजीत सिंह और निजी सुरक्षाकर्मी नरेंद्र को भी गोली मारी गई।

हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस का एक्शन तेज, कई ठिकानों पर दबिश

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड के हमलावरों की पहचान होने के साथ ही उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की स्पेशल टीमों का गठन किया गया है। एडिशनल पुलिस कमिश्नर कैलाश बिश्नोई की निगरानी में एडिशनल डीसीपी रामसिंह शेखावत सहित अन्य अधिकारियों की पुलिस टीमें राज्य के अलग-अलग चिन्हित ठिकानों पर दबिश दे रही है। हमलावरों के घरों तक पुलिस बीती रात को ही पहुंच गई। उनके परिवार के सदस्यों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। परिजनों के साथ पुलिस तकनीकी रूप से भी आरोपियों के ठिकानों का पता लगा रही है। एडिशनल पुलिस कमिश्नर कैलाश बिश्नोई का कहना है कि हरियाणा के महेंद्रगढ़ निवासी हमलावर की गिरफ्तारी के लिए हरियाणा पुलिस ने सहयोग लिया जा रहा है। पुलिस ने दोनों हमलावरों की शीघ्र गिरफ्तारी के दावे किए हैं।

जिसे साथ लेकर आए उसे भी मार डाला

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या करने वाले हमलावर जिस युवक नवीन सिंह शेखावत को साथ लेकर गोगामेड़ी के घर पहुंचे थे। हमलावरों ने उस नवीन सिंह की भी हत्या कर दी। पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने बताया कि शाहपुरा निवासी नवीन सिंह कपड़े का व्यवसाय करता था। जयपुर के वैशाली नगर स्थित एक रेंटल कंपनी से नवीन सिंह न कार किराए पर ली थी। इसी कार में बैठकर दोनों हमलावर नवीन सिंह के साथ सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर पहुंचे।

इससे पहले गोगामेड़ी के स्वागत के लिए खातीपुरा इलाके से एक साफा खरीदा गया था। दोपहर 1 बजकर 10 मिनट पर तीनों युवक गोगामेड़ी के घर पहुंचे, चूंकि नवीन सिंह को सुखदेव सिंह गोगामेड़ी जानते थे। ऐसे में उन्हें अंदर बुला लिया। नवीन सिंह और दोनों हमलावर सुखदेव सिंह के साथ सोफे पर बैठकर बातचीत कर रहे थे। करीब 10 मिनट बाद दोनों हमलावरों ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी पर अचानक फायरिंग कर दी। इसके तुरंत बाद नवीन सिंह को भी एक के बाद एक कई गोलियां मार दी गई।

गोगामेड़ी को मारी 8 गोलियां!

हमलावरों ने गोगामेड़ी को कुल 8 गोलियां मारी। अंतिम गोली उनके सिर पर पिस्टल अड़ाकर मारी गई ताकि वो जिन्दा ना रहे। पहली गोली लगने के बाद नवीन सिंह ने हमलावरों को रोकने का प्रयास किया और खुद सोफे से उठकर भागने लगा लेकिन कुछ ही सेकंड में हमलावरों ने नवीन सिंह पर भी ताबड़तोड़ फायरिंग की। ऑफिस के बाहर निकलने के दौरान भी गोली मारी गई। इससे नवीन सिंह की भी मौके पर ही मौत हो गई।

पहली गोली गोगामेड़ी और दूसरी नवीन को मारी

जयपुर के श्याम नगर इलाके में दाना पानी रेस्टोरेंट के सामने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने अपने घर में ऑफिस बना रखा है। नवीन सिंह शेखावत को साथ लेकर हमलावर गोगामेड़ी के घर पहुंचे थे। हमले के दौरान पहली गोली गोगामेड़ी के सीने में मारी गई और दूसरी गोली नवीन सिंह को मारी गई। एक गोली लगते ही सुखदेव सिंह संभल पाते, इससे पहले ही उन पर दो तीन और फायर कर दिए गए। इसके बाद वे सोफे से नीचे लुढ़क गए।

सीसीटीवी-जीपीएस से मिली जानकारी

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के घर के अंदर और बाहर लगे कैमरों के साथ जिस रेंटल कार में सवार होकर हमलावर आए। उसमें लगे जीपीएस के कारण पुलिस को पल पल के घटनाक्रम की जानकारी मिल गई। वैशाली नगर स्थित कार रेंटल कंपनी से 30 नवंबर को नवीन सिंह ने स्कॉर्पियो किराए पर ली थी। मंगलवार 5 दिसंबर को नवीन फिर से कार रेंटल कंपनी के दफ्तर गया और 2 हजार रुपए किराया और देकर आया। जीपीएस से पता चला कि वैशाली नगर से रवाना होने के बाद यह स्कॉर्पियो दो मिनट के लिए खातीपुरा मोड़ के पास रुकी और उसके बाद सीधे सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के श्याम नगर स्थित मकान पर पहुंची। गोगामेड़ी के घर और ऑफिस में लगे सीसीटीवी कैमरों के अनुसार दोपहर 1 बजकर 10 मिनट पर तीनों व्यक्ति गोगामेड़ी के घर पहुंचे और 1 बजकर 21 मिनट पर फायरिंग कर दी। हमलावरों ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के साथ नवीन सिंह को क्यों मारा। इसका पता नहीं चल सका है। पुलिस हमलावरों की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here