ये पाकिस्तान में ही हो सकता है… सिलेक्टर बनने के बाद खिलाड़ी ने लिया संन्यास

170
0
कराची: यूं नहीं कहा जाता है कि पाकिस्तान में कुछ भी हो सकता है। अब पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल को ही ले लीजिए। उन्होंने पाकिस्तान टीम का सिलेक्टर बनने के बाद क्रिकेट को अलविदा कहा। पाकिस्तान की विश्व विजेता टीम के खिलाड़ी रहे कामरान अकमल ने कहा- तुरंत प्रभाव से संन्यास ले रहा हूं। सिलेक्टर बनने या कोचिंग में आने के बाद खेल पर ध्यान नहीं दिया जा सकता है।

उनके बयान से ऐसा लगा है कि वह अब भी क्रिकेट खेलना चाहते थे, जबकि लंबे समय से इंटरनेशनल क्रिकेट टीम से बाहर थे और यही नहीं, पाकिस्तान सुपर लीग की टीम पेशावर ने भी बाहर का रास्ता दिखा दिया था। यानी क्रिकेट खेलना तो चाहते थे, लेकिन कोई अपनी टीम में शामिल नहीं कर रहा था। हालांकि, बाद में पेशावर ने उन्हें कोचिंग स्टाफ में शामिल किया। अब वह पाकिस्तान टीम के सिलेक्टर बन गए हैं, जो बाबर आजम सहित खिलाड़ियों को चुनेंगे।

क्रिकेट करियर की बात करें तो कामरान अकमल ने 53 टेस्ट खेले और इस दौरान 30.79 की औसत से 2648 रन बनाए, जबकि उनका स्ट्राइकरेट 63.10 का रहा। उनके नाम 6 शतक और 12 अर्धशतक दर्ज हैं। उोंने वनडे करियर में 157 मैचों में 26.09 की औसत से 3236 रन बनाए, जिसमें 5 शतक और 10 अर्धशतक शामिल हैं। टी-20 इंटरनेशनल की बात करें तो कामरान ने 58 मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया, जबकि 21 की औसत से 987 रन बनाए।

कामरान ने आखिरी मुकाबला कश्मीर प्रीमियर लीग में Bagh Stallions के लिए खेला था। Overseas Warriors के खिलाफ वह खाता नहीं खोल पाए थे। कामरान के सिलेक्शन कमिटी में आने से उनके भाई उमर अकमल के नेशनल टीम में आने की चर्चाएं तेज हो गई हैं। इसके बीच औसत खिलाड़ी के सिलेकटर बनने से यह भी सवाल उठ रहा है कि क्या वह अपने से अधिक मैच खेलने वाले कप्तान बाबर आजम पर दबाव बना पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here