राजधानी के सालेम स्कूल, एनआइटी और संतोषी नगर सहित अन्य क्षेत्रों से 75 ठेले जब्त

35
0

रायपुर। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही बुलडोजर की एंट्री हो गई है। मंगलवार को शहर के सालेम स्कूल, एनआइटी, संतोषी नगर सहित कई क्षेत्रों में अवैध चौपाटियों और ठेले-गुमटियों के विरुद्ध कार्रवाई की गई। इस दौरान सालेम स्कूल के पास से लगभग 35 ठेलों को जब्त किया गया और सड़क पर यातायात सुव्यवस्थित किया गया।

वहीं, एक दिन पहले ही सालेम स्कूल के बच्चों ने रैली निकालकर अवैध चौपाटी हटाने के लिए प्रदर्शन किया था। इसे नईदुनिया ने प्रमुखता से उठाया था।

स्कूली बच्चों और शिक्षकों ने बताया कि यहां अवैध चौपाटी की वजह से गाली-गलौच आम बात हो गई थी। लोग बाउंड्रीवाल कूदकर स्कूल परिसर के अंदर आ जाते थे और शराबखोरी भी होती थी। साथ ही बच्चों को स्कूल से निकलने के दौरान असामाजिक तत्वों की छींटाकशी का सामना भी करना पड़ता था।

कलेक्टर डा. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने मंगलवार देर शाम बैठक ली और सभी अफसरों को यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने के लिए अवैध चौपाटियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद 40 अवैध ठेले गुमटियों को जब्त किया गया। यानी मंगलवार शाम तक कुल मिलाकर लगभग 75 ठेले गुमटियों पर कार्रवाई की गई।

छह माह से कर रहे थे मांग, अब जागे

नईदुनिया से चर्चा के दौरान स्कूल के शिक्षकों ने बताया कि इस संदर्भ में कलेक्टर, एसएसपी, निगम, महापौर से शिकायत की गई थी। लेकिन प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं, सत्ता बदलते ही ठीक अगले ही दिन प्रशासन ने इसकी सुध ली और कार्रवाई की है।

रात में 11 बजे बंद हो जाएंगी दुकानें

राजधानी रायपुर में अब देर रात तक दुकानें नहीं खुली रहेंगी। शहर में अब रात 11 बजे बाजार बंद होगा। इसके साथ ही अवैध अतिक्रमणों पर भी तेजी से कार्रवाई होगी। कलेक्टर डा. सर्वेश्वर भुरे ने मंगलवार को शहर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर अधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक ली। इस बैठक में एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने कानून व्यवस्था संबंधित आवश्यक निर्देश दिए।

अवैध चखना सेंटरों पर भी कार्रवाई

कलेक्टर ने स्पष्ट रूप से आबकारी विभाग को अवैध चखना सेंटरों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। देर रात तक चलने वाले एवं समय सीमा के बाहर चलने वाले क्लब, बार पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए।

साथ ही सड़क-हाइवे इत्यादि पर पार्टी और अड्डेबाजी करने वाले असामाजिक तत्वों पर त्वरित एवं कड़ी कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया गया। इसके बाद आबकारी विभाग द्वारा फाफाडीह, तेलीबांधा, आश्रम सहित कई क्षेत्रों में अवैध चखना सेंटरों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here