सालभर से थी गोगामेड़ी के मर्डर की प्लानिंग, 500KM दूर बैठी पुलिस ने किया था अलर्ट, यहां समझें राजस्थान में कहां हुई चूक

45
0

जयपुर : सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में पुलिस का एक्शन तेज होता जा रहा। जिस तरह से श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष की जयपुर में गोली मारकर हत्या की गई उसके बाद पुलिस हमलावरों की गिरफ्तारी में जुटी है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हमलावरों को चिन्हित किया गया। एक का नाम रोहित सिंह और दूसरे का नाम नितिन फौजी बताया जा रहा। इनके बारे में सूचना देने वालों को 5-5 लाख का इनाम देने का ऐलान पुलिस की ओर से किया गया है। इसी बीच गोगामेड़ी को लेकर बड़ा खुलासा सामने आया है।

पंजाब पुलिस ने भी जताई थी हत्या की आशंका
पता चला है कि पिछले डेढ़ साल में उन्हें कई बार जान से मारने की धमकियां मिली थीं। सालभर से थी गोगामेड़ी के मर्डर की प्लानिंग की जा रही थी। पंजाब पुलिस ने इसे लेकर राजस्थान पुलिस को अलर्ट भी किया था। खुद गोगामेड़ी ने कई बार प्रेस कॉन्फ्रेंस करके और पुलिस को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग कर चुके थे। बावजूद इसके पुलिस की ओर से उन्हें कोई सुरक्षा नहीं दी गई। ऐसी सूचना है कि एक बार पाकिस्तान से भी जान से मारने की धमकी मिली थी, इसके बावजूद भी पुलिस हरकत में नहीं आई।

एडीजी को भेजा पत्र
पिछले साल पंजाब पुलिस ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या की आशंका जताई थी। पंजाब पुलिस की ओर से एसओजी और एटीएस के एडीजी को लिखित में पत्र भेजकर गोगामेड़ी की हत्या होने की आशंका जाहिर की थी। मुख्यमंत्री को भी पत्र भेजा गया लेकिन सरकार और पुलिस प्रशासन की ओर से सुखदेव सिंह को पुलिस सुरक्षा प्रदान नहीं की गई। अपनी जान बचाने के लिए सुखदेव सिंह ने निजी स्तर पर 4 हथियारबंद सिक्योरिटी लगा रखी थी। हत्याकांड के दिन 2 सुरक्षाकर्मी छुट्टी पर थे। इसी का फायदा उठाकर हमलावरों ने सुखदेव की हत्या कर दी।

डीआईजी ने भी एडीजी को लिखा पत्र

पंजाब पुलिस ने इसी साल 8 मार्च को राजस्थान पुलिस महानिदेशक को पत्र भेजकर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या की आशंका जताई थी। इसके बाद एटीएस और एसओजी के डीआईजी ने भी एडीजी (सूचना और सुरक्षा) को पत्र लिखा गया। इस पत्र में यह लिखा गया था कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के गुर्गे संपत नेहरा जो कि पंजाब की बठिंडा जेल में बंद है। उसके जरिए ही सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या की योजना बनाई जा रही। इसके बावजूद भी पुलिस की ओर से गोगामेड़ी को सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई।

अब FIR में गहलोत और डीजीपी का जिक्र
सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड मामले में उनकी पत्नी शीला शेखावत की ओर से जयपुर के श्याम नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। इस एफआईआर में सरकार और पुलिस द्वारा सुरक्षा मुहैया नहीं कराए जाने का आरोप लगाया गया है। एफआईआर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का नाम और डीजीपी का भी जिक्र किया गया है। साफ लिखा गया है कि बार बार सुरक्षा की मांग करने के बावजूद सुरक्षा प्रदान नहीं की गई। इस मामले की जांच अब एनआईए (राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी) करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here