Home मध्य-प्रदेश

1400 साल पुराना है गोंड समाज का इतिहास

34
0

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहू लाल सिंह ने कहा है कि जो समाज जितना अधिक संगठित होता है वह उतना ही अधिक मजबूत और विकसित होता है। यह सुनिश्चित है कि एक दिन गोंड समाज अपनी पुरानी प्रतिष्ठा और सम्मान को पुनः प्राप्त करेगा। खाद्य मंत्री श्री सिंह कोलार स्थित गोलगांव में गोंड समाज महासभा की भोपाल इकाई के परिचय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि भारत वर्ष में गोंड समाज का इतिहास 1400 साल पुराना है। भारत से लेकर हिंद महासागर होते हुए ऑस्ट्रेलिया तक आज भी गोंडवाना लैंड के नाम से जाना जाता है ।कार्यक्रम की शुरुआत समाज के पारंपरिक रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं नृत्य से हुई। विशिष्ट अतिथि के रूप में विधायक श्री रामेश्वर शर्मा एवं जिला अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश दमोह श्री तिरुमाला प्रकाश सिंह उइके उपस्थित थे। मंत्री श्री सिंह ने समाज के मेधावी छात्र-छात्राओं एवं समाज के लिए कार्य करने वाले युवाओं को प्रशस्ति-पत्र एवं स्मृति-चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

रानी कमलापति गोंड इतिहास की पहचान

मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि गोंड राजाओं ने भारत के इतिहास में कई साल शासन किया। इनमें से एक भोपाल की रानी रानी कमलापति थी। उन्होंने कहा कि भोपाल से उड़ीसा, ओरछा से चंद्रपुर, मदन महल, बाड़ी और रामनगर तक गोंड राजाओं के शासनकाल का उल्लेख मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here