2030 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकॉनमी बनेगा भारत, हो गया ऐलान, लेकिन यह होगी सबसे बड़ी परीक्षा

42
0

नई दिल्ली : भारत 2030 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। साथ ही वित्त वर्ष 2026-27 में देश की जीडीपी ग्रोथ सात प्रतिशत तक पहुंचने का अनुमान है। एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स ने मंगलवार को यह बात कही। एसएंडपी का मानना है कि देश के लिए एक बड़ी परीक्षा ‘विशाल अवसर’ का लाभ उठाकर खुद को अगला बड़ा ग्लोबल मैन्यूफैक्चरिंग सेंटर बनाने की है।

दुनिया की फैक्ट्री बन सकता है भारत

एसएंडपी की रिपोर्ट ‘ग्लोबल क्रेडिट आउटलुक 2024: न्यू रिस्क, न्यू प्लेबुक’ में कहा गया है कि मार्च 2024 यानी चालू वित्त वर्ष में जीडीपी ग्रोथ रेट 6.4 प्रतिशत रहने का अनुमान है। 2026 में इसके सात फीसदी तक पहुंचने की उम्मीद है। वित्त वर्ष 2022-23 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.2 प्रतिशत की दर से बढ़ी थी। भारत की सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि जून और सितंबर तिमाही में क्रमशः 7.8 प्रतिशत और 7.6 प्रतिशत रही थी।

2030 तक बनेगा तीसरी बड़ी इकॉनमी

एजेंसी के अनुसार, ‘भारत 2030 तक तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए तैयार है और हमें उम्मीद है कि यह अगले तीन वर्षों में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा। सबसे बड़ी परीक्षा यह है कि क्या भारत अगला बड़ा वैश्विक विनिर्माण केंद्र बन सकता है, जो एक बहुत बड़ा अवसर है।’ एसएंडपी के अनुसार, ‘एक मजबूत लॉजिस्टिक्स ढांचा विकसित करना भारत को सेवा-प्रधान अर्थव्यवस्था से विनिर्माण-प्रमुख अर्थव्यवस्था में बदलने में महत्वपूर्ण होगा।’ वित्त वर्ष 2022-23 के अंत तक भारत के सकल घरेलू उत्पाद का आकार 3,730 अरब अमेरिकी डॉलर रहा है।

अभी है दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी इकॉनमी

भारत वर्तमान में अमेरिका, चीन, जर्मनी और जापान के बाद दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) का अनुमान है कि भारत 2027-28 तक 5,000 अरब डॉलर के सकल घरेलू उत्पाद के साथ दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here