Home छत्तीसगढ़

स्वाइन फ्लू से रहें सतर्क, बरतें सावधानी

23
0

रायगढ़ 4 अगस्त 2022, जिले में कोरोना संक्रमण के साथ अब स्वाईन फ्लू के मामले भी मिल रहे हैं। बुधवार तक दो स्वाईन फ्लू के मरीजों की पुष्टि होते ही स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में आ गया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल कालेज अस्पताल, स्वास्थ्य अधिकारी सहित सिविल सर्जन को बुधवार को शाम को बैठक आयोजित कर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया गया है। ऐसे में स्वाईन फ्लू से सतर्क रहते हुए सावधानी बरतने की आवश्यकता है।
इस सम्बन्ध में सीएमएचओ डॉ. एसएन केसरी ने बताया: ” जिले में दो स्वाईन फ्लू के मरीज सामने आए हैं, जिसको लेकर सभी स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मचारियों को अलर्ट किया गया है। वहीं उक्त दोनों मरीजों का बेहतर उपचार शुरू कर दिया गया है। साथ ही दोनों मरीजों का कांटेक्ट हिस्ट्री देखी जा रही है, ताकि उसके संपर्क में आए अन्य लोगों की भी जांच हो सके। साथ ही बताया जा रहा है कि यह संक्रामक बीमारी है, जिसको लेकर लोगों को काफी सावधानी बरतने की जरूरत है। साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि इन मरीजों को सर्दी-खांसी, दर्द व बुखार था, जो ठीक नहीं हो रहा था। इस कारण जब जांच किया गया तो दोनों स्वाईन फ्लू से ग्रसित पाए गए हैं। वहीं बताया जा रहा है कि इन दोनों मरीजों की कांटेक्ट हिस्ट्री खंगाली गई है, जिसमें अभी तक कोई चपेट में नहीं आया है। फिलहाल उसके परिजनेां को सावधानी बरतने के लिए बोला गया है।”

बरते सावधानी
जिले में पिछले कुछ दिनों से लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है, वहीं अब स्वाईन फ्लू के मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य महकमा इससे भी निबटने में लग गया है। जिसको लेकर बुधवार देर रात तक लगातार बैठकें चलीं। अधिकारियों का कहना है कि अब एक बार फिर से लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। ऐसे में अब मास्क से ही इस गंभीर बीमारी से बचाव हो सकता है। ऐसे में अब घर से निकलने के दौरान मास्क लगाकर ही निकले।
पर्यात मात्रा में है दवाइयां
सीएचएमओ द्वारा बैठक लेकर सभी बीएमओ व सिविल सर्जन को निर्देशित किया गया है कि सर्दी-खांसी, बुखार के पीड़ित मरीजों की जांच किया जाए। वहीं सभी जगह जांच की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है जो सैंपल लेकर एम्स भेजा जाएगा। वहीं जिले के सभी अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में टेमी फ्लू नामक दवाई उपलब्ध कराई गई है। ताकि मरीजों को दिक्कत न हो।

यह लक्षण दिखें तो नजअंदाज न करें
डॉक्टरों का कहना है, स्वाइन फ्लू एक इंफ्लुएंजा वायरस की वजह से होता है जो सूअरों में पाया जाता है। तीन दिनों से अधिक समय तक 101 डिग्री से अधिक बुखार रह रहा हो, गले में खराश और सांस लेने में तकलीफ हो रही हो, नाक से पानी आ रहा हो या फिर नाक पूरी तरह बंद हो गई हो, थकान, भूख में कमी और उल्टी जैसे लक्षण स्वाइन फ्लू हो सकते हैं। अगर ऐसे लक्षण दिखें तो इसे नजर अंदाज न करें। तुरंत अस्पताल पहुंचकर जांच कराएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here