अखण्ड भारत : शुभ संकल्प की ओर

अखण्ड भारत : शुभ संकल्प की ओर ~अभिजीत सिंह ज्यादा अतीत में न जायें तो भी 1857 की क्रांति के बाद अंग्रेज प्रशासनिक अफसर जब कलकत्ता...

भारत की शिंडलर्स लिस्ट…!

भारत की शिंडलर्स लिस्ट...! ~ विजय मनोहर तिवारी यहूदियों के नरसंहार पर केंद्रित ‘शिंडलर्स लिस्ट’ अकेली और अंतिम फिल्म नहीं है, जिसने जातीय घृणा से लबालब...

गोस्वामी तुलसीदास जी…!

गोस्वामी तुलसीदास जी...!   "मातु-पिता जग जाय तज्यो ,  विधिहू न लिखी कछु कछु भाल भलाई । नीच , निरादर-भाजन , कादर , कूकर टूकन लागि ललाई ।।"   यह कवितावली...

स्मरण: मुंशी प्रेमचंद

स्मरण :  मुंशी प्रेमचंद प्रेमचंद भारतीय स्वाधीनता-संग्राम काल के लेखक हैं। प्रेमचंद की दृष्टि में वह स्वतंत्रता अधूरी है, जब तक कि भारतीय समाज में किसान, मजदूर और...

स्वातन्त्र्य आन्दोलन के प्रेरणापुञ्ज : स्वामी विवेकानंद 

स्वातन्त्र्य आन्दोलन के प्रेरणापुञ्ज : स्वामी विवेकानंद  ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  अमेरिका के शिकागो में सन् १८९३ में सम्पन्न हुई 'विश्वधर्म महासभा' ने विवेकानन्द के रुप में...

आजादी के बाद तबीयत से छले गए हमारे गाँव!

आजादी के बाद तबीयत से छले गए हमारे गाँव! ~जयराम शुक्ल पंचायत सरकार एक जुलाई तक चुन ली जाएगी। विधायकों और सांसदों ने अपने पट्ठे ग्राम...

समस्त दुःखों की निवृत्ति का एकमात्र साधन योग

समस्त दुःखों की निवृत्ति का एकमात्र साधन योग ~प्रियांशु सेठ आज की विकट सामाजिक परिस्थिति में वैदिक धर्म संस्कृति, सभ्यता, रीति-नीति, परम्पराएं आदि लुप्तप्राय: हो गयी...

पुण्यतिथि : ‘मधु का श्री गुरूजी! बन जाना’

'मधु का श्री गुरूजी! बन जाना' ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल भारतीय  संस्कृति में आक्रमण और वर्षों की परतन्त्रता के कारण कमजोर और दैन्य हो चुके हिन्दू समाज...

मुस्लिमों को अपनी जड़  मुगल में नहीं ; भारत की परंपरा में ढूंढनी चाहिए 

मुस्लिमों को अपनी जड़  मुगल में नहीं ; भारत की परंपरा में ढूंढनी चाहिए  ~डाॅ. पवन विजय प्रायः मुस्लिम अपनी पहचान डकैत मुगलों से जोड़ते हैं,...

ज्ञानवापी क्या कह रही है ?

ज्ञानवापी क्या कह रही है? - विजय मनोहर तिवारी यह भारत में कानून के राज और प्रतिष्ठा का एक और उदाहरण है कि एक स्वयंसिद्ध मामला...
20,539FansLike
2,325FollowersFollow
0SubscribersSubscribe