साक्षात् चण्डी का अवतार थीं रानी दुर्गावती

'साक्षात् चण्डी का अवतार थीं रानी दुर्गावती' ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल रानी दुर्गावती एक ऐसा नाम जिनके स्मरण मात्र से वीरता की भावना का ज्वार स्वतः उठने...

साँच कहै ता मारन धावै झूठे जग पतियाना!!

साँच कहै ता मारन धावै झूठे जग पतियाना!! कबीर जयंती/जयराम शुक्ल कबीर कब पैदा हुए कब मरे, हिंदू की कोख से कि मुसलमान की, उन्हें दफनाया...

कबीर के राम

“ कबीर के राम ” ―डॉ.राजेन्द्र कुमार सिंघवी   कबीर भया है केतकी, भँवर भये सब दास । जहाँ-जहाँ भक्ति कबीर की, तहँ-तहँ राम-निवास ।। अर्थात् कबीर के ‘राम’...

अष्टाङ्ग योग का उद्देश्य

अष्टाङ्ग योग का उद्देश्य -प्रियांशु सेठ (वाराणसी) मनुष्य जीवन दो उद्देश्यों से बंधा है- श्रेय: (धर्म-मार्ग) और प्रेय: (भोग-मार्ग)। भोगवादी मनुष्य प्रेय: को अपने जीवन का...

तेषां नित्याभियुक्तानां योगक्षेमं वहाम्यहम्!

तेषां नित्याभियुक्तानां योगक्षेमं वहाम्यहम्! -जयराम शुक्ल ......................................... श्रीमद्भागवत् गीता, योग, वन्दे मातरम् या राष्ट्रीय स्वाभिमान से जुड़े इन्ही जैसे अन्य विषयों की चर्चा छिड़ती है तो अपने...

संकट में प्राण; मगर हम नहीं सुधरेंगे!

संकट में प्राण; मगर हम नहीं सुधरेंगे! ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल कोरोना कर्फ्यू ,लॉकडाउन धीरे-धीरे अनलॉक हो चुका है।आर्थिक गतिविधियाँ चलने लगी हैं,लेकिन कोरोना के खतरे की...

मित्र प्रभुत्व!!

मित्र प्रभुत्व!! –डॉ.प्रदीप मिश्र प्राणों से प्यारे सम्मान्य मित्रवर..! मैं यहाँ स्वस्थ और प्रसन्न हूँ आशा है आप सपरिवार तंदुरुस्त होंगे। बंधु, इस पत्र का प्रेषण , मैं...

तो ये है राम मन्दिर के जमीन खरीदी की सच्चाई

चिन्दी को सांप भारत में ही बनाया जा सकता है ―कमलेश पारे आजकल हम सब बड़े आश्चर्य के साथ अयोध्या में हुए एक जमीन सौदे को...

महापराक्रमी योध्दा श्रीकृष्ण

महा पराक्रमी योद्धा श्रीकृष्ण –डॉ.पवन विजय कवियों, साहित्यकारों की कल्पना में कृष्ण कोमल, रसिक , श्रृंगार प्रिय और रमणविहारी हैं। लोक और साहित्य दोनों में उनके...

मनुष्य मरणधर्मा हैं, मगर मनुष्यता न मरे…!

मनुष्य मरणधर्मा हैं, मगर मनुष्यता न मरे...! ―डॉ.विवेक चौरसिया संसार के सारे धर्मावलंबियों में हिन्दू गज़ब हैं। इसलिए कि उनके पास जीवन से जुड़े गूढ़ प्रश्नों...
20,539FansLike
2,325FollowersFollow
0SubscribersSubscribe