Home Main सम्पादक की कलम से

सम्पादक की कलम से

स्वातन्त्र्य समर के ‘प्रतापी’ गणेश शंकर विद्यार्थी

0
स्वातन्त्र्य समर के 'प्रतापी' गणेश शंकर विद्यार्थी ~ कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल 'प्रताप' शब्द का स्मरण आते ही प्राय: मनोमस्तिष्क में दो महापुरुषों के नाम ऊर्जा से...

हिन्दू नववर्ष ; सृष्टि चक्र का शाश्वत सनातन प्रवाह 

0
हिन्दू नववर्ष ; सृष्टि चक्र का शाश्वत सनातन प्रवाह  ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि भारतीय संस्कृति में अपना विशिष्ट महत्व रखती है।...

‘स्व’ की त्रयी से विश्वगुरु भारत का आह्वान 

0
'स्व' की त्रयी से विश्वगुरु भारत का आह्वान  ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की त्रयदिवसीय ( 12 - 15 मार्च)...

संघ — अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा और राष्ट्र निर्माण..!

0
संघ — अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा और राष्ट्र निर्माण..! ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा अपने...

सम्वेदनाओं की तूलिका से जीवन के विविध चित्रों को खींचती : इन्तज़ार में आ...

0
सम्वेदनाओं की तूलिका से जीवन के विविध चित्रों को खींचती : इन्तज़ार में आ की मात्रा ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  नवीन रांगियाल अपने गद्य में आत्मा के...

क्या राहुल गांधी ने देश से गद्दारी की..?

0
क्या राहुल गांधी ने देश से गद्दारी की..? ~ कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल ब्रिटेन के निजी पर्यटन दौरे पर गए राहुल गांधी ने कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में भारत...

राष्ट्र परम्परा का पथ प्रशस्त करने वाली कृति हिन्दुत्व: एक विमर्श..!

0
राष्ट्र परम्परा का पथ प्रशस्त करने वाली कृति हिन्दुत्व: एक विमर्श..! ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल  युगों युगों से अपने वैशिष्ट्य एवं सर्वसमावेशी विचार प्रवाह को समेटने वाले...

मोदी युग : पूर्वोत्तर में कमल का कमाल..!

0
मोदी युग : पूर्वोत्तर में कमल का कमाल..! ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल पूर्वोत्तर में भाजपा का 'कमल' खिल चुका है। देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र के आठ में...

हमें माफ मत कीजिएगा राजेन्द्र बाबू..!

0
हमें माफ मत कीजिएगा राजेन्द्र बाबू..! ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल हमें माफ मत कीजिएगा राजेन्द्र बाबू! हम सब आपको भुलाने के अपराधी हैं। हम इसलिए आपको ध्यान...

जीवन पथ को आलोकित करते महावीर स्वामी

0
‘जीवन पथ को आलोकित करते महावीर स्वामी’ ~कृष्णमुरारी त्रिपाठी अटल भारतीय सनातन धर्म संस्कृति जिसमें सदैव सत्य की अनुभूति ,खोज तथा उसका वैयक्तिक और सामूहिक तौर...
20,539FansLike
2,325FollowersFollow
0SubscribersSubscribe