Home छत्तीसगढ़

कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक, दिए आवश्यक निर्देश

27
0

कोरबा | कोरबा जिला कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान जिला अस्पताल में ओपीडी, ओपीडी के संबंध में जानकारी ली तथा अस्पताल में ओपीडी की प्रगति रिपोर्ट पर खुशी जाहिर की। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने डीएमएफ से नियुक्त डॉक्टरों की पदस्थापना के संबंध में भी जानकारी सीएमएचओ डॉ बोर्डे से ली। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने कहा कि डीएमएफ से नियुक्त डॉक्टरों का कार्य मूल्यांकन किया जाए और उसके आधार पर ही वेतन दिया जाए।

श्रीमती साहू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से चर्चा के दौरान बताया कि जिला अस्पताल में अच्छे डॉक्टरों के साथ बेहतर सुविधाएं उपलब्ध है। जिला अस्पताल में हो रहे सर्जरी, बर्न केस, की उपलब्धियों का प्रचार प्रसार सोशल मीडिया के माध्यम से होना चाहिए। कलेक्टर श्रीमती साहू ने मितानिन समन्वयको को स्वास्थ्य विभाग की उपलब्धियों एवं सुविधाओं का लोगों तक प्रचार प्रसार करने के लिए निर्देश दिए। श्रीमती साहू ने जिला अस्पताल में चल रहे सर्जरी, प्लास्टिक  सर्जरी की भी जानकारी ली तथा प्रतिदिन होने वाले सर्जरी की रिपोर्ट भेजने के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक के दौरान प्रभारी अपर कलेक्टर कुंदन कुमार, संयुक्त कलेक्टर आशीष देवांगन, सीएमएचओ डाॅ. बी.बी. बोर्डे, एसडीएम कोरबा सुनील नायक, एसडीएम कटघोरा श्रीमती सूर्यकिरण तिवारी, एसडीएम पोड़ी-उपरोड़ा संजय मरकाम, सिविल सर्जन डाॅ. अरूण तिवारी, हाॅस्पीटल कंसल्टेंट डाॅ. देवेन्द्र गुर्जर, डीपीएम पद्माकर शिंदे सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

कलेक्टर श्रीमती साहू ने सरकारी अस्पतालों में होने वाले प्रसव के संबंध में जानकारी ली, तथा सरकारी अस्पतालों पीएचसी एवं सीएचसी में प्रसव दर बढ़ाने के निर्देश दिए। श्रीमती साहू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से जिले में जिले के अस्पतालों में मातृत्व मृत्यु दर के संबंध में भी जानकारी ली। सीएमएचओ बीबी बोर्डे ने बताया कि कोविड-19 के बावजूद जिले में पिछले लगभग 2 वर्षों में मातृत्व मृत्यु की संख्या 15 है। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने जिले के दुर्गम वनांचलों में स्थित प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में एक्स-रे, पैथोलॉजी, सोनोग्राफी, ब्लड टेस्ट, फिजियोथैरेपी जैसी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए जरूरी व्यवस्थाएं कर विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए।

जिला अस्पताल में संलग्न जटगा, पसान आदि दुर्गम क्षेत्रों के लैब टेक्नीशियनो को कार्यमुक्त कर वापस अपने कार्य क्षेत्र में पदस्थ करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने पताढ़ी, पाली के सीएचसी तथा कुदमुरा, श्यांग, पसान जटगा आदि के पीएचसी में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। और स्वास्थ्य क्षेत्र में बेहतर उपलब्धियों के साथ कार्य करने के लिए जिले के उपस्थित सभी डाक्टरों, मितानिन समन्वयकों, जिला चिकित्सा प्रबंधक को प्रोत्साहित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here