Home विंध्य की खबरे

रिटायर्ड TI को रीवा से उठा लाई सतना पुलिस जमकर हंगामा किया, 2009 में व्यक्ति से मारपीट के मामले में कोर्ट ने जारी किया वारंट

58
0

थाना के अंदर फरियादी से मारपीट के एक मामले में सतना पुलिस रिटायर्ड टीआई को रीवा से उठा लाई। अदालत से 13 साल पहले जारी वारंट की तामीली कराने के लिए पुलिस को आरोपी को टांगकर कार में बैठाना पड़ा। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

हासिल जानकारी के मुताबिक सतना में पुलिस के सहायक उपनिरीक्षक (एएसआई) के तौर पर पदस्थ रहे हिमाचल प्रसाद शुक्ला को सतना पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। सतना पुलिस की टीम ने बुधवार को रीवा जिला न्यायालय परिसर से पकड़ा लेकिन पुलिस के शिकंजे में फंसते ही रिटायर्ड पुलिस कर्मी ने पहले तो पुलिस कर्मियों को ही धौंस दिखाना शुरू कर दिया लेकिन जब वह फॉर्मूला काम नहीं आया और उसे पकड़कर गाड़ी में बैठाया जाने लगा तो वह सड़क पर ही लेट गया। पुलिस कर्मियों ने उसे टांग कर गाड़ी में डाल दिया और रीवा के सिविल लाइन थाना ले गए। इसी थाना में रात भर उसे रखा गया, जहां से गुरुवार को पुलिस उसे सतना ले आई। उसे पहले चित्रकूट की अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

बता दें कि साल 2009 में एच एल मिश्रा सतना में बतौर एएसआई पदस्थ था। मझगवां थाना में पोस्टिंग के दौरान उसने बलवीर नाम के एक व्यक्ति की पिटाई की थी। बलवीर ने शिकायत दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया, लेकिन एच एल मिश्रा के पुलिसिया रुतबे के कारण उसकी शिकायत दर्ज नहीं की गई। बलवीर ने थाना में इश्तगासा पेश किया। जहां से उसके खिलाफ अपराध दर्ज करने का आदेश जारी हो गया। अदालत ने एचएल मिश्रा को समन और फिर जमानती वारंट जारी किया लेकिन वह कभी अदालत में हाजिर नहीं हुआ। इस बीच उसका रीवा तबादला हो गया और वह वहीं से टीआई होकर रिटायर भी हो गया। अदालत ने एचएल मिश्रा के खिलाफ स्थाई वारंट जारी कर दिया और दस्तावेज दाखिल दफ्तर करवा दिए।

एसडीओपी चित्रकूट आशीष जैन ने बताया कि स्थाई वारंट की तामीली के दौरान एचएल मिश्रा ने खूब हंगामा करने की कोशिश की थी। उसे चित्रकूट की अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here