Home छत्तीसगढ़

रिसाली निगम और फूड एंड ड्रग कंट्रोल ने एक साथ मिलकर बार और रेस्टारेंटों में मारा छापा

14
0

रिसाली । रिसाली निगम और फूड एंड ड्रग कंट्रोल ने एक साथ मिलकर रिसाली निगम क्षेत्र के कई बार और रेस्टारेंटों में एक साथ छापा। इस छापे में जहां वेज तड़का का आलू मिला सड़ा तो 56 भोग मेस का मिर्च पाऊडर में डस्ट और ब्लू हैवन बार का बालाजी चिप्स-मिथ्या छाप था। फुड एंड ड्रग कंट्रोलर ने 15 दुकानों सेकरीब  53 खाने पीने के सामानों को जब्त कर जांच के लिए अपने साथ ले गये। जांच के बाद इन बारों और रेस्टारेंटों में खाद्य सामग्री में मिलावट एवं अमानक स्तर का मिलने पर कार्यवाही की जायेगी।

निगम आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे के निर्देश पर निगम प्रशासन व खाद्य एवं औषधी प्रशासन विभाग की संयुक्त टीम का गठन कर बार, रेस्टोरेंट और मेस में सीधे नागरिकों को परोसे जाने वाला खाद्य सामाग्री अमानक या असुरक्षित तो नहीं इसकी जांच की गई। कृष्णा टॉकिज स्थित रोड, मार्केट और प्रगतिनगर के 15 दुकानों से जांच करने 53 सैंपल लिया गया। जांच के दौरान 2 अमानक व 1 मिथ्या छाप पर नोटिस जारी किया गया।

दरअसल बारिश के मौसम में बीमारी घर करने लगती है। निगम आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे ने ऐसे स्थानों पर सख्ती बरतने के निर्देश दिए जहां बीमारी का केन्द्र बिन्दु है। यही वजह है कि निगम व खाद्य एवं औषधी प्रशासन विभाग की टीम ने रिसाली निगम क्षेत्र के अंगूरी, ब्लू हैवन बार समेत, कान्हा आयोध्या, पुष्पांजली स्वीट्स जैसे बड़े प्रतिष्ठानों के किचन व्यवस्था की जांच की गई। अंगूरी बार के किचन का सीलिंग क्षतिग्रस्त और ब्लू हैवन बार का फ्लोर बेहद गंदा होने पर अधिकारियों ने साफ-सफाई व मरम्मत करने की अंतिम चेतावनी दी गई। टीम में फूड एवं सेफ्टी अफसर पुष्पाराज चैहान, नमूना सहायक दिव्या राजपूत, राजस्व विभाग प्रभारी हरचरण सिंह अरोरा, प्रभारी स्वास्थ्य निरीक्षक बृजेन्द्र परिहार आदि शामिल थे।

कार्रवाई से बचने बुलाया जनप्रतिनिधि को

टीम सबसे पहले कृष्णा टाकिज रोड स्थित भिलाई मसाला उद्योग पहुंची थी। यहां पर संचालक ने कार्रवाई न किए जाने की मिन्नत करते क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि को बुला लिया था। बाद में अधिकारियों ने दुकान संचालक को समझाईश दी और वहां से मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, गरम मसाला जांच के लिया।

सैंपल के साथ लाइसेंस की भी की गई जांच

निगम व खाद्य विभाग की टीम ने इस दौरान डेयरी से मिठाई, खोवा व नमकीन तथा मेस से बनी हुई सब्जी, दाल भात व फ्रीज में रखे वेजिटेबल का सैंपल लिया। वही अधिकारियों ने फूड लाइसेंस, गुमास्ता व ट्रेड लाइसेंस भी चेक किया। व्यापारियों को निर्देश दिए कि वे मियाद पूर्ण होने के पहले लाइसेंस नवीनीकरण करा ले।

बाक्स

दो अमानक, 1 मिथ्या छाप मिला

जांच के दौरान 2 अमानक व एक मिथ्या छाप का प्रकरण सामने आया। निगम व खाद्य विभाग की टीम ने वेज तड़का मेस से उबला आलू लिया था वह सड़ा निकला। इसी तरह 56 भोग कैटरिंग एण्ड मेस से लिया लाल मिर्च पाऊडर डस्ट निकला। इसके अलावा ब्लू हैवन बार से लिया गया बालाजी चिप्स पैकेट मिथ्या छाप पाया गया।

यहां से लिया सैंपल

भिलाई मसाला उद्योग, शुभम डेयरी एण्ड स्वीट्स, राज तिलक डेयरी एण्ड स्वीट्स, श्रद्धा डेली निड्स, अंगूरी बार, कान्हाजी स्वीट्स एण्ड रेस्टोरेंट, पुष्पांजली स्वीट्स रिसाली, आयोध्या डेयरी, मैत्री सुपर बाजार, दीदी की रसोई मेस, पूजा मेस, वेज तड़का, 56 भोग केटरिंग एण्ड मेस व ब्लू हैवन बार रिसाली।

वर्जन

बार, रेस्टोरेंट और अन्य दुकानों में साफ-सफाई का ध्यान रखा जा रहा है कि नहीं इसकी जांच नियमित की जाती है। बारिश को लेकर हमने फूड एण्ड ड्रग कंट्रोल की टीम के साथ दुकानों में बेचे जाने वाले खाद्य सामानों की जांच कराई गयी।

प्रकाश कुमार सर्वे, आयुक्त नगर पालिक निगम रिसाली

वर्जन

15 दुकानों से नमूना लिया गया है। सैंपल जांच हमारी मोबाइल यूनिट करेगी। रिपोर्ट असुरक्षित या अमानक आने पर हम नोटिस देंगे। क्वालिटी में सुधार लाया गया है कि नही इसकी जांच दो माह बाद फिर की जाएगी। सुधार नहीं लाने पर प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here