अस्पताल में चले लात-घूंसे, :गार्ड्स ने मरीज के अटेंडर को डंडे से पीटा

314
0

रीवा के संजय गांधी अस्पताल में ब्लड मांगने पर मरीज के अटेंडर की वहां तैनात गार्ड्स ने जमकर पिटाई कर दी। मरीज को शुक्रवार रात 10 बजे खून की जरूरत पड़ी। परिजनों ने कुछ जनप्रतिनिधियों को फोन किया। थोड़ी देर बाद दो लोग प्रभारी CMO डॉ. अलख प्रकाश पाण्डेय के कक्ष में पहुंचे। अटेंडर का आरोप है कि स्टॉक रहने के बाद भी उन्हें ब्लड नहीं दिया गया। इसी बात को लेकर जब विरोध जताया, तो आधा दर्जन गार्ड्स ने लात, घूंसों और डंडे से पिटाई कर दी। साथ ही, अमहिया पुलिस को सूचना देकर पुलिस को सौंप दिया।

अमहिया थाना प्रभारी उपनिरीक्षक दीपक तिवारी ने बताया कि किसी मरीज को ब्लड की जरूरत पड़ी, तो उसके परिजनों ने नीरज मिश्रा पुत्र रामलाल मिश्रा निवासी इंद्रा नगर को जानकारी दी। नीरज मिश्रा एक अन्य साथी के साथ अस्पताल पहुंचे। नीरज मिश्रा ब्लड लेने के लिए वहां तैनात प्रभारी CMO डॉ. अलख प्रकाश पाण्डेय से बातचीत करने लगे। इसी दौरान, नीरज के साथ पहुंचे साथी ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया। इसे देखकर वहां तैनात गार्ड आक्रोशित हो गए। उन्होंने दोनों लोगों पर हमला बोल दिया।

अस्पताल प्रबंधन का आरोप है कि नीरज मिश्रा के साथ जो दूसरा व्यक्ति आया था, वो नशे में धुत था और उत्पात मचा रहा था। CMO के सामने ही आधा दर्जन गार्डों ने दोनों को जमकर पीटा। दोनों जोर-जोर से चिल्लाते रहे। किसी ने दखलंदाजी नहीं की। अंतत: पुलिस को सूचना दी गई। जानकारी के बाद पहुंची अमहिया पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत कराया। इसके बाद अस्पताल प्रबंधन के निर्देश पर दोनों को थाने ले गई। जहां दोनों से पूछताछ की है।

थाने में आवेदन देकर भाग निकला फरियादी
थाना प्रभारी दीपक तिवारी ने बताया कि नीरज मिश्रा और उसके एक साथी से SGMH के गार्डों ने मारपीट की है। उन्होंने थाने में आवेदन देकर कहा कि संजय गांधी अस्पताल प्रबंधन वहां तैनात गार्ड्स के खिलाफ कार्रवाई करें। मारपीट करने वाले गार्ड्स को अस्पताल से निष्कासित किया जाए। इससे पहले कि पुलिस कुछ पूछताछ करती, फरियादी नीरज थाने से भाग निकला।

CCTV फुटेज के आधार पर दर्ज होगा केस
अमहिया थाना प्रभारी ने कहा है कि SGMH प्रबंधन से शराब पीकर उत्पात मचाने वालों के खिलाफ आवदेन मांगा है। साथ ही, अस्पताल कैम्पस के सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस खंगाल रही है। अगर शराब पीकर उत्पात मचाने की बात सही निकली, तो फरियादी नीरज मिश्रा और उसके साथी को भी आरोपी बनाया जाएगा।

दो ​सुरक्षा अधिकारी निलंबित: CMO
CMO डॉ. यत्नेश त्रिपाठी ने बताया कि रात में जो भी घटना हुई वो नहीं होनी चाहिए थी। हम मामले की जांच करा रहे हैं। फिलहाल दो ​सुरक्षा अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। वहीं वरिष्ठ चिकित्सकों ने निर्देश पर जांच टीम गठित कर दी गई है। जो पूरा प्रतिवेदन तैयार कर रही है। इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मामले की जांच होगी: डीन
श्याम शाह चिकित्सा महाविद्यालय के डीन डॉ. देवेश सारस्वत ने बताया कि जांच टीम गठित कर दी गई है। ​पहली नजर में दो सिक्योरिटी गार्ड काे दोषी पाया गया। दोनों को ही हटा दिया गया है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच चल रही है, जो दो​षी होगा कार्रवाई की जाएगी।

तीन दिन पहले भी हुआ था बवाल
12 अक्टूबर की देर रात घायल शंकर रजक निवासी सरलानगर थाना मैहर जिला सतना को लेकर कई लोग आए थे। इमरजेंसी वार्ड में तैनात ड्यूटी डॉक्टर डॉ. आशय द्विवेदी से विवाद हो गया था। इस मामले में SGMH प्रबंधन की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण कायम हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here