सतना की पॉक्सो एक्ट की स्पेशल कोर्ट ने दुष्कर्म करने के मामले में 20 साल की कैद और 13 हजार रुपए जुर्माने की सुनाई सजा

18
0

नाबालिग को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म करने के मामले में सतना की पॉक्सो एक्ट की स्पेशल कोर्ट ने आरोपी को 20 साल की कैद और 13 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। आरोपी के एक अन्य साथी को भी एमवी एक्ट के तहत 3 वर्ष के कारावास और 11 सौ रुपए के अर्थदंड से दंडित किया गया है।

विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट शिल्पा तिवारी ने नाबालिग के अपहरण और बलात्कार के मामले में आरोपी जीतेन्द्र साकेत पिता छेदीलाल साकेत (21) निवासी ग्राम बडेरा थाना सभापुर सतना को दोषी करार दिया है। इसी मामले में उसके साथी मान सिंह कुशवाहा पिता सौखीलाल कुशवाहा (35) निवासी ग्राम हरदुआ जिला रीवा को भी दोषसिद्ध पाया गया है।

अदालत ने आरोपी जीतेन्द्र साकेत को धारा 363 में 3 वर्ष,376 एवं पॉक्सो एक्ट में 20- 20 साल की कैद और कुल 13 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। उसकी सजाएं साथ- साथ चलेंगी। आरोपी मान सिंह पर एमवी एक्ट की धाराओं के तहत 1100 रुपए का अर्थदंड लगाया गया है। प्रकरण में राज्य शासन की तरफ से लोक अभियोजन अधिकारी ज्योति जैन ने पैरवी की।

अभियोजन प्रवक्ता संदीप कुमार ने बताया कि विगत 15 नवंबर 2019 को पीड़िता अपने घर से स्कूल के लिए निकली थी लेकिन वह वहां नहीं पहुंची। पीड़िता के पिता को उसके भतीजे ने पीड़िता के स्कूल में न होने की जानकारी दी और बताया कि जीतेन्द्र साकेत उसे बाइक पर बैठा कर कहीं ले गया है। पुलिस ने तलाश कर पीड़िता को खोज निकाला। पीड़िता ने पुलिस को अपने बयान में बताया कि आरोपी उसे पिछले कई सालों से परेशान कर रहा था।

घटना के दिन वह उसे झांसा देकर अपने साथ ले गया और बलात्कार किया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया तो पता चला कि वह मान सिंह की बाइक (MP 17 MK 2831) लेकर गया था। पुलिस ने बाइक भी जब्त कर ली थी। विवेचना पूर्ण कर पुलिस ने प्रकरण अदालत में पेश किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here