Home मध्य-प्रदेश

नगरीय निकाय निर्वाचन के लिये नियुक्त 59 सेक्टर अधिकारियों का प्रशिक्षण

15
0

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा ने कहा कि किसी भी चुनाव में सेक्टर अधिकारी पोलिंग बूथ और रिटर्निंग ऑफिसर के बीच की महत्वपूर्ण कड़ी होते हैं। उन्होंने बताया कि जिले में नगरीय निकाय के निर्वाचन दो चरणों में होंगे। जिनमें नगर निगम के महापौर और वार्ड पार्षद तथा सभी नगरीय निकाय के वार्ड पार्षदों के लिए मतदान ईवीएम के माध्यम से कराया जाएगा। बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में नगरीय निकाय निर्वाचन के लिए नियुक्त सभी 69 सेक्टर अधिकारियों के प्रशिक्षण में कलेक्टर ने यह जानकारी दी। इस मौके पर प्रशिक्षण के मास्टर ट्रेनर डॉ बीके गुप्ता, इलेक्शन सुपरवाइजर द्वारिकेंद्र सिंह और सेक्टर ऑफीसर्स के नोडल आरएन पांडेय भी उपस्थित थे।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री वर्मा ने कहा कि नियुक्त किए गए सभी सेक्टर अधिकारी अनुभवी और कई चुनाव संपन्न करा चुके हैं। इस बार त्रि-स्तरीय पंचायत और नगरीय निकायों के चुनाव एक साथ समानांतर रूप से चल रहे हैं। इसलिए कुछ सेक्टर अधिकारियों को दोहरी ड्यूटी भी करनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि सेक्टर अधिकारी निर्वाचन प्रक्रिया एवं मतदान तथा मतगणना के साथ ही निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के बारे में भली-भांति अवगत होकर दक्ष बनें, ताकि वे अपने क्षेत्र में शांतिपूर्ण, विधि सम्यक चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न करा सकें। कलेक्टर ने कहा कि सेक्टर अधिकारी को सभी प्रक्रियाएं और निर्देशों का ज्ञान होगा, तो मतदान दलों को कोई समस्या नहीं आती है।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि नगर पालिक निगम सतना के चुनाव में महापौर और वार्ड पार्षद का चुनाव होना है। इसलिए एक सीयू और अलग-अलग पदों के लिए दो बैलेट यूनिट लगेगी। जबकि मैहर नगर पालिका परिषद एवं शेष नगर परिषदों में केवल वार्ड पार्षद का चुनाव होना है तो एक सीयू के साथ एक ही बैलेट यूनिट लगेगी। कलेक्टर ने कहा कि सेक्टर अधिकारी गंभीरता और धैर्य के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। किसी भी स्थिति में पैनिक नहीं हों। ईवीएम में मॉक पोल के पश्चात मशीन सीआरसी प्रक्रिया से क्लियर करें और मतदान समाप्ति के पश्चात क्लोज बटन जरूर दबाएं।

मास्टर ट्रेनर डॉ बीके गुप्ता ने सेक्टर अधिकारियों को सामग्री वितरण, मतदान और मतगणना प्रक्रिया तथा निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के संबंध में प्रशिक्षण दिया। उन्होंने बताया कि नगर निगम में एक सीयू में पहली बीयू महापौर और दूसरी बीयू पार्षद पद के लिए क्रमशः लगाई जाएंगी। जबकि सभी नगरीय निकाय में केवल एक बीयू पार्षद पद के लिए लगाई जाएगी। नगरीय निकाय चुनाव में मतदाता रजिस्टर बनाया जाएगा और मतदान समाप्ति पश्चात अभिलिखित मतों का लेखा प्रारूप 18‘क’ में रखा जाएगा। डॉ गुप्ता ने बताया कि महापौर और वार्ड पार्षद के पदों पर मतदान एक ही ईवीएम से हो रहा है। अतः मतलेखा केवल एक ही बनेगा।

मास्टर ट्रेनर्स ने बताया कि मॉकपोल होने तक जो मशीन बीयू अथवा सीयू खराब होगी, तो केवल वही यूनिट ही बदली जाएगी। लेकिन वास्तविक मतदान प्रारंभ होने के बाद किसी मशीन यूनिट में खराबी आती है तो पूरी मशीन का सेट बदला जाएगा। मॉकपोल के दौरान खराब हुई मशीन सेक्टर अधिकारी अपने साथ लाकर वेयरहाउस में जमा कराएंगे। जबकि वास्तविक मतदान के दौरान खराब हुई पूरी मशीन का सेट पीठासीन अधिकारी की कस्टडी में मतदान केंद्र पर ही रहेगा। डॉ गुप्ता ने बताया कि इस बार मतदान दलों को सामग्री वितरण और जमा करने में भी आसानी होगी। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए फोल्डर में सभी प्रकार के प्रपत्र सामग्री जमा होगी। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये फोल्डर में सभी प्रकार के प्रपत्र सहित कुल 6 सामग्री जमा होगी। इसके साथ ही पीओ-बुकलेट और शील्ड ईवीएम के साथ अभिलिखित मतों का लिफाफा जमा किया जाएगा। इस बार परिनियत और अपरिनियत लिफाफे जमा करने का प्रावधान शामिल नहीं है।

12 नगरीय निकायों में बनाये गये 59 सेक्टर अधिकारी

सतना जिले में नगरीय निकाय आम निर्वाचन 2022 में दो चरणों में मतदान संपन्न होगा। जिनमें 6 जुलाई को नगर पालिक निगम सतना एवं नगर परिषद चित्रकूट, उचेहरा, जैतवारा, कोठी, बिरसिंहपुर तथा 13 जुलाई को नगर पालिका परिषद मैहर, नगर परिषद नागौद, रामपुर बघेलान, न्यू रामनगर, अमरपाटन और कोटर में मतदान होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा ने नगरीय निकायों के मतदान और चुनाव को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं विधि-सम्यक रुप से संपन्न कराने सभी नगरीय निकायों को विभिन्न सेक्टर्स में बांट कर एक-एक सेक्टर अधिकारी नियुक्त किये हैं। इसके अनुसार नगर पालिक निगम सतना में 27 सेक्टर मजिस्ट्रेट, नगर पालिका परिषद मैहर में 6, नगर परिषद रामनगर में 4, अमरपाटन में 3, उचेहरा में 3, चित्रकूट में 4 सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा नगर परिषद नागौद, कोठी, जैतवारा, रामपुर बघेलान, कोटर और नगर परिषद बिरसिंहपुर में 2-2 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 10 सेक्टर अधिकारी रिजर्व दल में शामिल किये गये हैं।

बैलेट यूनिट में महापौर का मतपत्र सफेद रंग का होगा

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकाय निर्वाचन में बैलेट यूनिट पर उपलब्ध कराये जाने वाले मतपत्रों का रंग निर्धारित किया है। इसके अनुसार महापौर नगर पालिक निगम के लिये सफेद रंग का मतपत्र चस्पा रहेगा। जबकि वार्ड पार्षदों के मामले में नगर परिषद में नीला, नगर पालिका में पीला और नगर निगम के मामले में गुलाबी रंग का मतपत्र बैलेट यूनिट पर रहेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here